Rahu & Ketu Transit And effects on all zodiac signs(Rashi)2020

The change of zodiac sign of Rahu and Ketu is going to take place at 8:00 am on September 23, 2020 and this change will have different effects on different zodiac signs. This change is going to be auspicious for everyone.
Rahu and Ketu are going to enter Taurus and Scorpio zodiac except Gemini and Sagittarius on 28th September 2020. This change will bring Rahu and Ketu in their higher zodiac sign and this change will bring many lives of Rahu and Ketu and Rahu and Ketu are going to teach many people how to live here, some people will increase in business, then they will promote some people in jobs, this time is going to be very good for the students and especially for those people, this time will be very good It is going to be for those who want to go abroad and get education and for those who want to settle in abroad, time is very beneficial especially Rahu and Ketu on 3 zodiac signs will be special blessings of Cancer Sagittarius and Pisces people. But this time is going to be very beneficial.

Check the following effects based on your moon sign.

Aries:-

For the people of Aries, Rahu will transit in the 2nd house and Ketu in the 8th house. The coming 18 months are going to be very profitable for the people of Aries, for them this time is making a sudden sum of money and Rahu will help them fully for success in business. Because Rahu is sitting in the second house, then Rahu will get the people of Aries here to increase their business and those who do the job will get them promoted in the job. Here the people of Aries may have stomach problems due to Ketu being in the eighth house, because of Ketu in the eighth house, the people of Aries will be more inclined towards mysticism. This time is going to be very beneficial for those who are related to spirituality or are related to mysticism, they will get different types of successes. This time will be very effective for lawyers. This time also for those who are in the field of research. Will be beneficial for short trips.

Taurus:-

Rahu will transit in the first house and Ketu in the seventh house for the people of Taurus. This transit will give mixed effects to the people of Taurus zodiac. On the one hand, if Rahu and Ketu continue to increase business for Taurus people, on the other hand they can also give physical problems to them as well as differences with their wife or their husband. Can get it done. Here the first house Rahu will boost your finance status, this time is going to be very effective for those who are related to politics, they can get a high position and can get success in politics, this time is very auspicious for traveling abroad. It is going to be very beneficial for the people of Taurus zodiac who want to study abroad or settle in abroad, this time is going to be very beneficial for business, but it will be better to stay away from partnership here. Your professional life will be very good in months, but some distance can be seen in personal life.

Cancer:-

Rahu will transit in the eleventh house and Ketu in the fifth house for those of the Cancer zodiac; A very advantageous situation will occur in the professional life for the Cancer zodiac, because Rahu will transit in the eleventh house and if the 11th place is in place then the income will increase here. Those with a career will get a promotion. Suddenly, the path of wealth will open, for those who are involved in the field of defense, this time will be very beneficial for them. There will be opportunities for foreign travel. Those who want to go abroad and study, their wish is going to be fulfilled. And for those who want to settle in abroad, this time will be their most favourable time And with Ketu in the fifth house, the native will have a tendency towards spirituality, but Ketu in the fifth house may cause a negative feeling in the love relations of the native, Ketu sitting here will prove to be harmful for those who want to have a love marriage. Their marriage may be interrupted.

Leo:-

Rahu will transit in the tenth house and Ketu in the 4th house for the people of Leo zodiac, this time will be very beneficial for those who are connected with the technical field, they will get promotion in the field of work, also for those who want to start their business. This time will be very effective, you will get success in business, Rahu sitting in the tenth house will do smart work. Rahu sitting in the tenth house will make the native successful in politics. For those who want to make a career in politics, this is a very auspicious time for those who were facing disturbance in their workplace, they will get rid of their distortion. And here the native will win over the enemy. Due to Ketu being in the sixth house, the mother of the native may be worried, take care of their health. It will be a thing to keep in mind at this time that you will not buy any new property.

Virgo:-

For the natives of Virgo zodiac, Rahu will move from the tenth house to the ninth house and Ketu from the fourth house to the third house. Here Rahu is seated in the place of religion, due to which a person can go towards unrighteousness. The person may find it addictive, it is better to keep distance from gambling speculative stock market etc. This time is not auspicious for Virgo. Here, Ketu sitting in the third house can reduce your confidence. You may be restless. You may be deceived because of Ketu sitting here, it would be stupid to blindly believe in such a time. A hurried decision will be harmful.

Libra:-

For Libra people, Rahu will transit in the 8th house and Ketu in the 2nd house. This time will remain mysterious. Whoever is present here in VIII, will get it done suddenly. Although this time is going to be good, but some precautions will also have to be taken during this time. Stay away from gambling, betting etc., otherwise heavy losses may have to be incurred. Here you may have small diseases, but there is nothing to worry, these will be temperate. This is going to be a great time for lawyers. This is also going to be a great time for people connected with spirituality. For those who are associated with research profession, time is going to be very beneficial. He can make a new discovery. Income will be good for traders at this time, but money will not last, their expenses will increase.

Scorpio:-

For Scorpio people, Rahu will transit in the seventh house and Ketu in the first house. This time is not favourable for Scorpio people. Here Rahu, sitting in the seventh house, creates a state of deception. The native may continue to have a dispute with his wife. If the person is married, he can have a love affair with someone else. For those who do or want to do business in partnership, this time is not favourable. Here they can also cheat from the partner. Income will be better in this time. There will also be an inclination towards spirituality. But avoid believing in too much trust can be harmful for you. This time is highly favourable for traders. This time is also favourable for those who want to settle abroad. In this time, they can get success in traveling abroad, people who are connected with spirituality, their spirituality will increase and people who are connected with mysticism will get success. Because Ketu is in the first house, then this time is very favourable for spirituality and mysticism.

Sagittarius:-

Rahu will transit in sixth house and Ketu in twelfth house for Sagittarius people. For Sagittarius people, this change is going to be very beneficial, or say it is going to be most beneficial, because here all the troubles of Sagittarius people are going to end. Those who had debt, they will get freedom from debt. For those who have been struggling with a disease for a long time, this time is very beneficial. They will get rid of their long illness. Enemies will prevail. Chances of traveling abroad are made. Those who have been trying for abroad for a long time will get success. If Ketu is in the twelfth house, the native will get complete satisfaction, his mind will remain calm. Ketu being in the twelfth house will eliminate wasteful expenditure. Stability will come in life.

Capricorn:

Rahu will transit in the fifth house and Ketu in the eleventh house for Capricorn people. Long journey is made for Capricorn people. In this transit, Rahu also makes travel abroad. For those who want to earn their livelihood by going abroad, this time is favorable. For those who want to start their business abroad, this time is also beneficial. Foreign exchange income is the sum of. Here Rahu in the fifth house can inhibit learning. This time is not favorable for love affairs. To get success in love relationship, it is very important to get Rahu peace. Being a fifth Rahu, the person can get away from religion and get caught in wrong habits. The native may be addicted to smoking.

Aquarius: –

For the natives of Aquarius, the transit of Rahu will be in the fourth house and the transit of Ketu will be in the tenth house. This transit is normal for Aquarius people, but for Aquarius people, this time is for practical, not emotional. So do not take any decision while staying in emotions. Taking a hurried decision will be harmful for you. Before executing any plan, you must consider it 10 times. Avoid lending transactions. Do not waste your money in investment. The native may have estrangement with his parents. Due to Ketu being in the tenth house, the native will be hardworking and will complete his efforts to complete his work and will also achieve success.

Pisces: –

For the people of Pisces, this time is not less than any jackpot. For Pisces people, Rahu is coming in the third house and Ketu in the ninth house. This place is very dear to Rahu and Ketu. Due to Ketu being in the 9th house, the native will become religious. Those who are connected with religion, their trend in religion will increase further and those who want to move forward in the field of religion will get some good achievement. This time will be very important for those who want to advance in the field of spiritual practice, they can get success. Being in the 3rd house of Ketu will increase the confidence of the native. Enemies will be defeated. This time is very beneficial for the people who are associated with the field of media, they can get new projects, they can get a good opportunity. In the third house, Rahu will get income without investing. For those who do commission work, this time is the jackpot. Their income may increase drastically.

राहु और केतु 28 सितंबर 2020 को मिथुन और धनु राशि को छोड़कर वृषभ और वृश्चिक राशि में प्रवेश करने वाले हैं इस परिवर्तन से राहु और केतु अपनी उच्च राशि यों में आ जाएंगे और इस परिवर्तन से राहु और केतु बहुत लोगों की जिंदगी संवारने वाले हैं और बहुत लोगों को जीने का तरीका सिखाने वाले हैं यहां राहु और केतु कुछ लोगों को व्यापार में वृद्धि जाएंगे तो वही कुछ लोगों को नौकरी में प्रमोशन दिलाएंगे विद्यार्थियों के लिए यह समय बहुत अच्छा रहने वाला है और खासकर उन लोगों के लिए यह समय बहुत अच्छा रहने वाला है जो लोग विदेश में जाकर शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं और जो लोग विदेश में जाकर सेटल होना चाहते हैं उनके लिए भी है समय बहुत लाभकारी है विशेषकर 3 राशियों पर राहु और केतु की विशेष कृपा होने वाली है कर्क धनु और मीन राशि वालों के लिए यह समय बहुत ज्यादा लाभकारी रहने वाला है

.

मेष :-

मेष राशि वालों के लिए राहु द्वितीय भाव में और केतु अष्टम भाव में गोचर करेंगे। मेष राशि वालों के लिए आने वाले 18 महीने बहुत लाभदायक रहने वाले हैं, उनके लिए यह समय अचानक धन प्राप्ति का योग बना रहा है और व्यापार में सफलता के लिए राहु उनकी पूरी मदद करेंगे। क्योंकि यहां राहु द्वितीय भाव में बैठे हैं, तो राहुल यहां मेष राशि वालों को कारोबार में वृद्धि करवाएंगे और जो लोग नौकरी करते हैं, उन्हें नौकरी में पदोन्नति करवाएंगे। यहां केतु अष्टम भाव में होने की वजह से मेष राशि वालों को पेट संबंधित समस्या हो सकती है केतु अष्टम में होने की वजह से मेष राशि वाले लोगों का रुझान रहस्यवाद की तरफ कुछ ज़्यादा रहेगा। जो लोग अध्यात्म से संबंध रखते हैं या रहस्यवाद से संबंध रखते हैं उनके लिए यह समय बहुत ज्यादा फायदेमंद रहने वाला है उनको विभिन्न प्रकार की सफलताएं मिलेंगी. वकीलों के लिए यह समय बहुत कारगर साबित होगा जो लोग रिसर्च के फील्ड में है उनके लिए भी यह समय बहुत लाभकारी रहेगा छोटी मोटी यात्राओं के योग बनते हैं.

वृषभ:-

वृषभ राशि के जातकों के लिए राहु प्रथम भाव में और केतु सप्तम भाव में गोचर करेंगे। यह गोचर वृषभ राशि के जातकों के लिए मिलाजुला प्रभाव देगा एक तरफ यदि राहु और केतु वृषभ राशि वालों को व्यापार में वृद्धि रहेंगे तो वहीं दूसरी तरफ उनको शारीरिक समस्या भी दे सकते हैं और साथ ही उनकी पत्नी के साथ या उनके पति के साथ मतभेद भी करवा सकते हैं. यहां प्रथम भाव के राहु आपके फाइनेंस स्टेटस को बढ़ावा देंगे जो लोग राजनीति से संबंधित हैं उनके लिए यह समय बहुत प्रभावी रहने वाला है उनको कोई उच्च पद प्राप्त हो सकता है और राजनीति में सफलता मिल सकती है यह समय विदेश यात्रा के लिए बहुत शुभ रहने वाला है वृषभ राशि के जातक जो विदेश में जाकर पढ़ना चाहते हैं या विदेश में जाकर सेटल होना चाहते हैं उनके लिए यह समय बहुत शुभकारी रहेगा व्यापार के लिए यह समय बहुत लाभप्रद रहने वाला है परंतु यहां पार्टनरशिप से दूर रहना ही ठीक होगा आने वाले 18 महीनों में आपकी प्रोफेशनल लाइफ तो बहुत अच्छी रहेगी पर पर्सनल लाइफ में कुछ डिस्टरबेंस देखी जा सकती है.

मिथुन:-

मिथुन राशि वालों के लिए यह गोचर बहुत प्रभावी रहने वाला है मिथुन राशि वाले जातकों के राहु प्रथम भाव से बारहवें भाव में गोचर करेंगे और केतु सप्तम भाव से छठे भाव में गोचर करेंगे। इस गोचर से सबसे ज्यादा प्रभाव शादीशुदा लोगों को पड़ेगा जिन शादीशुदा लोगों की शादीशुदा जिंदगी ठीक नहीं चल रही थी उनके लिए यह समय बहुत प्रभावी रहेगा उनकी शादीशुदा जिंदगी में सुधार होगा यहां बारहवें भाव में विराजित राहु जातक को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं देंगे और यहां पर विदेश यात्रा के योग बहुत प्रबल होते हैं जातक विदेश में सेटल हो सकता है राहु के इस गोचर से जातक का खर्चा बढ़ सकता है केतु यहां छठे भाव में गोचर कर रहे हैं यूं तो यह केतु का अपना घर है परंतु यहां पर केतु कुछ समस्याओं को बढ़ा सकते हैं छठे भाव के केतु आपके शब्दों में बढ़ोतरी कर सकते हैं और आपके लिए कर्जे की स्थिति बना सकते हैं इस समय मैं आपको अपनी सेहत का खास तौर पर ध्यान रखना होगा।

कर्क:-

कर्क राशि वालों के लिए राहु ग्यारहवें भाव में और केतु पंचम भाव में गोचर करेंगे कर्क राशि वालों के लिए प्रोफेशनल लाइफ में बहुत लाभ वाली स्थिति बनेगी क्योंकि राहु ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे और 11 स्थान आए भाव होता है तो यहां पर आमदनी में वृद्धि होगी नौकरी पेशा वाले लोगों को प्रमोशन मिलेगी। अचानक धन प्राप्ति के रास्ते खुलेंगे जो लोग डिफेंस के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं, उनके लिए यह समय बहुत लाभदायक रहेगा विदेश यात्रा के अवसर मिलेंगे जो लोग विदेश में जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं उनकी इच्छा पूर्ण होने वाली है उनको विदेश के अवसर जल्द ही प्राप्त होंगे और जो लोग विदेश में जाकर सेटल होना चाहते हैं उनके लिए भी यह समय राहत भरा है और केतु के यहां पांचवें भाव में होने से जातक का अध्यात्म की तरफ रुझान बढ़ेगा परंतु केतु के पंचम भाव में होने से जातक के प्रेम संबंधों में खटास आ सकती है यहां पर विराजमान केतु उन लोगों के लिए हानिकारक साबित होंगे जो लोग प्रेम विवाह करना चाहते हैं उनकी शादी में रुकावट आ सकती है.

सिंह:-

सिंह राशि के जातकों के लिए राहु दशम भाव में और केतु चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे जो लोग टेक्निकल फील्ड से जुड़े हुए हैं उनके लिए यह समय बहुत लाभकारी सिद्ध होगा उनको कार्य क्षेत्र में पदोन्नति मिलेगी जो लोग अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं उनके लिए भी यह समय बहुत प्रभावी रहेगा कारोबार में सफलता मिलेगी दशम भाव में विराजमान राहु स्मार्ट वर्क करवाएंगे. दशम भाव में विराजमान राहु जातक को राजनीति में सफलता दिलाएंगे। जो लोग राजनीति में अपना करियर बनाना चाहते हैं उनके लिए यह बेहद शुभ कार्य समय है जो लोग अपने कार्यस्थल में डिस्टरबेंस झेल रहे थे उनको उनकी डिस्टरबेंस से छुटकारा मिलेगा। और यहां पर जातक शत्रु पर विजय हासिल करेगा। केतु के छठे भाव में होने की वजह से जातक की माता परेशान रह सकती है उनकी सेहत का ध्यान रखें। इस समय में ध्यान रखने वाली बात होगी कि आप कोई नई प्रॉपर्टी नहीं खरीदेंगे।

कन्या:-

कन्या राशि के जातकों के लिए राहु दशम भाव से निकलकर नवम भाव में आएंगे और केतु चतुर्थ भाव से निकलकर तृतीय भाव में आएंगे। यहां पर राहु धर्म स्थान में विराजित हैं, जिस वजह से व्यक्ति अधर्म की तरफ जा सकता है। जातक को नशे की लत लग सकती है जुआ सट्टा शेयर मार्केट आदि से दूरी बनाए रखना ही बेहतर है. यह समय कन्या राशि के लिए शुभ नहीं है. यहां तृतीय भाव में विराजमान केतु आपके कॉन्फिडेंस में कमी ला सकते हैं। आपको बेचैनी में डाल सकते हैं। यहां विराजमान केतु की वजह से आपको धोखा मिल सकता है, तो ऐसे समय में आंखें मूंदकर विश्वास करना बेवकूफी होगी। जल्दबाजी में लिया गया डिसीजन हानिकारक होगा। किसी कार्य को करने के लिए जल्दबाजी बिल्कुल ना करें , अन्यथा नुकसान होगा। इस समय में आपको वाद विवाद से बिल्कुल दूर रहना होगा।

तुला:-

तुला राशि वालों के लिए राहु अष्टम भाव में और केतु द्वितीय भाव में गोचर करेंगे। यह समय रहस्यमई बना रहेगा। यहां अष्टम में मौजूद रहे जो कुछ भी करवाएगा , अचानक से करवाएगा। वैसे तो यह समय अच्छा रहने वाला है, परंतु इस समय में कुछ सावधानियां भी रखनी होंगी। जुए सट्टे इत्यादि से दूर रहें, अन्यथा भारी हानि उठानी पड़ सकती है। यहां आपको छोटी-छोटी बीमारियां लगी रह सकती हैं, पर घबराने की कोई बात नहीं है यह टेंपरेरी होंगी। वकीलों के लिए यह समय बहुत अच्छा रहने वाला है। अध्यात्म से जुड़े हुए लोगों के लिए भी यह समय बहुत अच्छा रहने वाला है। जो लोग रिसर्च प्रोफेशन से जुड़े हुए हैं , उनके लिए भी है समय बहुत लाभप्रद रहने वाला है। वह कोई नई खोज कर सकते हैं। व्यापारियों के लिए इस समय में आमदनी तो अच्छी होगी, परंतु पैसा टिकेगा नहीं उनके खर्चे बढ़ जाएंगे।

वृश्चिक :-

वृश्चिक राशि वालों के लिए राहु सप्तम में तथा केतु प्रथम भाव में गोचर करेंगे। यह समय वृश्चिक जाति वालों के लिए अनुकूल नहीं है। यहां सप्तम भाव में विराजमान राहु धोखे की स्थिति बनाते हैं। जातक का अपनी पत्नी के साथ वाद विवाद बना रह सकता है। यदि जातक शादीशुदा है, तो उसका किसी और से प्रेम संबंध बन सकता है। जो लोग पार्टनरशिप में बिजनेस करते हैं या करना चाहते हैं, उनके लिए यह समय अनुकूल नहीं है। यहां उन्हें पार्टनर से भी धोखा मिल सकता है। इस समय में आमदनी तो अच्छी होगी। अध्यात्म की तरफ झुकाव भी होगा। परंतु किसी पर विश्वास करने से बचें जरूरत से ज्यादा विश्वास आपके लिए हानिकारक हो सकता है। यह समय व्यापारियों के लिए अत्यधिक अनुकूल है। जो लोग विदेश में जाकर सेटल होना चाहते हैं , उनके लिए भी यह समय अनुकूल है। इस समय में उन्हें विदेश गोचर करने में सफलता मिल सकती है जो लोग अध्यात्म से जुड़े हुए हैं, उनका अध्यात्म में रुझान बढ़ेगा और जो लोग रहस्यवाद से जुड़े हुए हैं, उन्हें सफलता मिलेगी। क्योंकि यहां केतु प्रथम भाव में है, तो अध्यात्म और रहस्यवाद के लिए यह समय अत्यधिक अनुकूल है।

धनु:-

धनु राशि के जातकों के लिए राहु छठे भाव में और केतु बारहवें भाव में गोचर करेंगे। धनु राशि वालों के लिए यह परिवर्तन बहुत अधिक लाभदायक होने वाला है या यूं कहें कि सबसे अधिक लाभदायक होने वाला है, क्योंकि यहां पर धनु राशि वालों की सभी परेशानियों का अंत होने वाला है। जिन लोगों पर ऋण था, उन्हें ऋण से मुक्ति मिलेगी। जो लोग लंबे समय से किसी बीमारी से जूझ रहे थे, उनके लिए यह समय बहुत ज्यादा लाभदायक है। उन्हें उनकी लंबी बीमारी से छुटकारा मिलेगा। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। विदेश यात्रा के योग बनते हैं। जो लोग लंबे समय से विदेश के लिए कोशिश कर रहे थे, उन्हें सफलता मिलेगी। केतु बारहवें भाव में होने से जातक को पूर्णता संतुष्टि मिलेगी , उनका मन शांत रहेगा। केतु बारहवें भाव में होने से व्यर्थ के व्यय खत्म होंगे। लाइफ में स्टेबिलिटी आएगी।

मकर:-

मकर राशि वालों के लिए राहु पंचम भाव में और केतु एकादश भाव में गोचर करेंगे। मकर राशि वालों के लिए लंबी यात्रा का योग बनता है। इस गोचर में राहु विदेश यात्रा के भी योग बनाता है। जो लोग विदेश में जाकर अपनी आजीविका कमाना चाहते हैं, उनके लिए यह समय अनुकूल है। जो लोग विदेश में अपना व्यापार शुरू करना चाहते हैं, उनके लिए भी यह समय लाभप्रद है। विदेशी मुद्रा की आमदनी का योग है। यहां पंचम भाव में राहु होने से शिक्षा ग्रहणकरने में रूकावट आ सकती है। प्रेम संबंधों के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। प्रेम संबंधों में सफलता पाने के लिए जातक को राहु शांति करवानी अति आवश्यक है। पंचम राहु होने की वजह से जातक धर्म से विमुख हो सकता है और गलत आदतों में फस सकता है। जातक को स्मोकिंग की लत लग सकती है।

कुंभ:-

कुंभ राशि के जातकों के लिए राहु का गोचर चतुर्थ भाव में और केतु का गोचर दशम भाव में होने वाला है। कुंभ राशि वालों के लिए यूं तो यह गोचर सामान्य है, परंतु कुंभ राशि वालों के लिए यह समय प्रैक्टिकल होने का है, इमोशनल होने का नहीं। तो इमोशंस में रहकर कोई भी डिसीजन ना लें। जल्दबाजी में डिसीजन लेना आपके लिए हानिकारक रहेगा। कोई भी प्लान को एग्जीक्यूट करने से पहले 10 बार उस पर विचार जरूर कर ले। उधार लेन-देन से बचें। इन्वेस्टमेंट में अपना पैसा ना फंसाए। जातक की अपने माता-पिता के साथ मनमुटाव रह सकती है। केतु दशम भाव में होने की वजह से जातक मेहनती होगा और अपने कार्य को पूर्ण करने के लिए जातक पूर्ण प्रयास करेगा और सफलता भी हासिल करेगा।

मीन:-

मीन राशि के जातकों के लिए यह समय किसी जैकपोट से कम नहीं है। मीन राशि वालों के लिए राहु तृतीय भाव में और केतु नवम भाव में आ रहे हैं। यह स्थान राहु और केतु को अति प्रिय हैं। केतु नवम भाव में होने की वजह से जातक की प्रवृत्ति धार्मिक हो जाएगी। जो लोग धर्म से जुड़े हुए हैं, उनका धर्म में रुझान और ज्यादा बढ़ जाएगा और जो लोग धर्म के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं, उन्हें कोई अच्छी उपलब्धि हासिल होगी। जो लोग साधना के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं, उनके लिए यह समय अत्यधिक महत्वपूर्ण होगा, उन्हें सफलता मिल सकती है। केतु तृतीय भाव में होने की वजह से जातक के कॉन्फिडेंस में वृद्धि होगी। शत्रु परास्त होंगे। जो जातक मीडिया के फील्ड से जुड़े हुए हैं, उनके लिए यह समय बहुत लाभदायक है, उन्हें नए प्रोजेक्ट मिल सकते हैं, उन्हें कोई अच्छी अपॉर्चुनिटी मिल सकती है। तृतीय भाव में राहु बिना इन्वेस्टमेंट किए आमदनी करवाएंगे। जो लोग कमीशन का काम करते हैं , उनके लिए यह समय जैकपॉट है। उनकी आमदनी में अत्याधिक वृद्धि हो सकती है।